amit shah

जीत के शिल्पकार है अमित शाह

2014 के आम चुनावों में भाजपा को मिली भारी सफलता के बाद से भाजपा ने जिस तरह देश के तमाम राज्यों में अपनी जबरदस्त पकड़ बनायी है और यह पकड़ दिन प्रतिदिन मजबूत होती जा रही है भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने जिस कुशलता और कड़ी मेहनत करके भाजपा को आज नयी ऊँचाईयों पर पहुंचा दिया है, यह सब देख कर लगता है वह चाणक्य की भूमिका निभा रहे है। अमित शाह की कार्यशौली देख कर कई बार लगता है कि उनमें जमीनी स्तर पर कामकाज और समृद्ध साँगठनिक अनुभव दोनों का मिश्रण मिला हुआ है यहीं वजह है कि उनका ‘हर कदम सफलता की और जाता नजर आता हैं।

2014 में भी जब अमित शाह भाजपा के अध्यक्ष बने थे तब भी देखते ही देखते महाराष्ट्र, हरियाणा, झारखण्ड और जम्मू-कश्मीर में भाजपा का परचम लहराने लगा था शाह जिस तरह राज्यों में प्रवास और यात्रायें करने साथ ही पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं से सीधा संवाद रखने के अलावा टीमवर्क की भावना रख कर कार्य करते है उससे भाजपा कार्यकर्ताओं में जोश और उत्साह की लहर दौड़ जाती है खासकर शाह की कार्यशैली देख कर भारत का बड़ा युवा वर्ग उनके हर कदम का कायल है जिसका अन्दाजा उनकी सोशल मीडिया पर जबरदस्त लाईक को देखकर लग जाता है।

अमित शाह की ताकत का भारत के लोगों का अन्दाजा तब लगा जब 2014 के आम चुनाव में भाजपा को उत्तर प्रदेश में लोकसभा की 80 सीटों में से 71 पर सफलता हासिल हुयी जबकी इससे पहले कभी भी भाजपा को उत्तर प्रदेश में 10 सीटों से ज्यादा नहीं मिली थी लेकिन 2014 में कमान चूँकि शाह के पास थी जिसके चलते यूपी में भारी सफलता हासिल हुयी।

भाजपा कार्यकर्ता भी मानते है कि शाह हर बार लौह संकल्प लेते है और सटीक रणनीति बनाकर ही आगे बढ़ते है शाह ने जिस तरह पार्टी की सदस्यता महाअभियान की शुरुआत की थी जो कि अपने लक्ष्य 10 करोड़ को कहीं आगे पार करती हुयी 12 करोड़ से आगे पहुँच गयी है और अभी भी यह सिलसिला जारी है यह वजह है कि भारतीय जनता पार्टी विश्व की सबसे बड़ी पार्टी बन कर उभरी है अमित शाह की सबसे बड़ी खासियत है उनका ‘धैर्य’ और ‘साहस’ शाह के कार्यकाल में यह कई बार नजर भी आया है उनकी इसी शक्ति ने उन्हें हर कदम पर कामयाबी भी प्रदान की है राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के स्वयं सेवक के रूप में काम करते हुये शाह अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् में सक्रिय भूमिका निभाने के बाद विधायक, गृहमंत्री पद से होते हुए आज भाजपा में जो शीर्ष पर पहुंचे है इसके पीछे शाह की कड़ी मेहनत, दूरदर्शिता, अतिकुशल संगठनात्मक कौशल, टीम वर्क जैसी भावनायें छिपी हुयी है जिसके चलते आज देश और विदेशों में भाजपा की छवि पूरी तरह ‘बदल’ गई है और अब लोग आगे बढ़कर भाजपा से स्वयं जुडऩे लगे है इसीलिये उन्हें करिश्माई जीत का शिल्पकार माना जाता है यहीं वजह है कि आज राजस्थान भाजपा कार्यकर्ताओं को भी विश्वास है कि आगामी विधानसभा चुनावों में भी शाह के सटीक कदमों से भाजपा एक बार फिर सरकार बनाने में कामयाब होगी।

Leave a Reply